Thursday, May 27, 2010

माया के शाही अंदाज़

माया की माया साल दर साल बढ़ती जा रही है... ख़ुद को दलित की बेटी कहने वाली बसपा नेता की संपत्ति में 3 साल के अंदर 35 करोड़ रुपए का इज़ाफ़ा हुआ है... इसका ख़ुलासा मायावती ने विधान परिषद चुनाव के लिए नामांकन के दौरान सौंपे गए शपथ-पत्र में किया... माया के पास है 88 करोड़ रुपए की संपत्ति... और तो और हैरान करने वाली बात ये है कि बेशुमार दौलत की मालकिन के पास पहले से न कोई वाहन था और न ही खेती की ज़मीन... मायावती के पास उनके पुश्तैनी गांव बादलपुर में न कोई मकान है, न कोई बंगला और न एक इंच ज़मीन है...पहली बार 1995 मुख्यमंत्री बनने के बाद से वो कभी भी वहां नहीं गई है...लेकिन माया ने 2007 में MLC के उपचुनाव में नामांकन के साथ भरे गए शपथ-पत्र में 52 करोड़ रुपए की संपत्ति होने की जानकारी दी... शपथ-पत्र में मायावती ने कहा है कि उनके पास 75.47 करोड़ रुपए की व्यावसायिक और आवासीय संपत्ति है... बकौल माया दिल्ली के महंगे नेहरू रोड इलाके में 54 करोड़ रुपए की मंहगी ज़मीन है...बहरहाल पैसा कब कहा से और कैसे आया और उससे माया के शौक कैसे बदले ये सोचने वाली बात है...माया ज़ेवरों की भी हैं ख़ास शौकीन है... उनके पास एक किलो सोना और हीरे जवाहरात जड़ित गहने हैं, जिनकी क़ीमत 88 लाख रुपए है... माया को ‘शहंशाहों’ जैसा शौक़ हैं... उनके पास 4 लाख का एक चांदी का डिनर सेट है...जिसका वजन 18 किलो है... इसके अलावा पेंटिंग और म्युरल्स भी हैं...जिसकी क़ीमत 15 लाख है... बैंकों और विभिन्न वित्तीय संस्थाओं में उन्होंने 11.39 करोड़ रुपए जमाकर रखा है...अब सवाल ये है की बादलपुर की विशाल कोठी किसकी है... माया ने ख़ुद अपनी आधा दर्जन से ज़्यादा प्रतिमाएं लगवाई हैं अब उनके एक समर्थक ने महोबा जिले में ‘मायावती का मन्दिर’ बनवाने की अनुमति मांगी है... ख़ास बात है कि मन्दिर में मायावती की प्रतिमा पर फूलों की जगह नोट चढ़ाए जाएगें... बसपा प्रमुख को पिछले 15 मार्च को हुई रैली में हज़ार-हज़ार रूपए के नोटों की 16 फ़ुट लंबी माला पहनाई गई थी... इस माला में 21 लाख के नोट थे...

No comments:

Post a Comment