Tuesday, June 15, 2010

ऑनर किलिंग... इज़्ज़त की उड़ी धज्जीयां

प्यार के दुशमन हर दौर में रहे है... लेकिन ये ज़िद्दी प्यार भी हर दौर में परवान चढ़ा... 100 फ़ीसदी में 10 फ़ीसदी लोग कामयाब हुए...बाक़ी 90 फ़ीसदी का हश्र...बड़ा दर्दनाक हुआ...लेकिन बदलते दौर के साथ-साथ हालात ने भी करवट बदला और प्रेम पुजारियों के लिए उनके अपने ही ख़ून उनके दुश्मन बन बैठे... देश में ऑनर किलिंग के एक के बाद एक कई मामले सामने आ रहे हैं... इज़्ज़त और समाज के डर से लोगों को अपने ख़ून का ही ख़ून बहाने में ज़रा भी तकलीफ़ नही होती...
 ऐसे कई जल्लाद पिता, भाई, मां, के ख़ूख़ार चेहरे समाज के सामने आए है... जिसने अपनी इज़्ज़त बचाने के लिए अपनी ही औलाद की जान ले ली, अपनी बहन का सुहाग उजाड़ा दिया... लेकिन ऑनर किलिंग का मामला समाज के सामने आने के बाद इनकी इज़्ज़त की धज्जीयां उड़ गई... तब इज़्ज़त और आबरू का कलमा पढ़ने वालों की बोलती ही बंद हो गई, और उसी समाज के सामने नज़रे झुकाने को मजबूर है जिसकी वहज से ऐसे लोगों ने अपनों को हमेशा के लिए मौत की नींद सुला दिया... ऑनर किलिंग का एक सनसनी ख़ेज मामला सामने आया है...जहां एक परिवार ने अपनी बेटी और उसके प्रेमी की बेरहमी से हत्या कर दी... वारदात को अंजाम देने के बाद लड़की के परिवार वालों ने दोनों के शवों को घर में बंद कर भाग गए... इस प्रेमी जोड़े की बस इतनी सी ख़ता थी कि दोनों अलग-अलग जातियों से ताल्लुक रखते थे... और परिवार वालों ने इन्हें इतनी बेहरहमी से मारा की दोनों के शरीर के कई हिस्सों में चोट और बिजली के करंट के भी निशान मिले...
इसके अलावा पिछले दिनों हरियाणा के जिंद से भी ऐसा ही एक मामला सामने आया... जहां एक ही गोत्र का होना प्यार का दुश्मन बना... जी हां... 3 साल पहले एक प्रेमी युगल ने घरवालों के खिलाफ शादी की थी...एक ही गोत्न का होने की वजह से खाप पंचायत ने इस विवाह का विरोध किया... तालिबानी फरमान सुनाते हुए लड़के के परिवार को गांव से बहिष्कार कर उसका हुक़्का पानी बंद कर दिया गया....इसके बाद दोनों करनाल में जा बसे 15 जून 2007 को इनकी हत्या कर दी गई... सीरियल ऑनर किलिंग का क़हर यहीं नही थामा... कहते है ना इश्क़ और जंग में सब जाएज़ है... हाल में ही मुज़फ्फरनगर में घटे ऑनर किलिंग मामले में एक नया ट्विस्ट सामने तब आया जब मृतक प्रेमी जोड़े पहुंचे थाने...जी हां कल तक जहां प्रेम सम्बन्ध के चलते अजीत और अंशु की हत्या की बात सामने आ रही थी वहीं अचानक ये प्रेमी जोड़ा जिन्दा नज़र आया... और थाने पहुँच गया...गौरतलब है कि पुलिस ने इस प्रेमी युगल की लाश भी बरामद की... और लड़की के भाई अनुज ने कबूला भी कि उसने ही अपनी बहन के प्रेमी की हत्या की थी... इसी दौरान ऑनर किलिंग का एक और सनसनी ख़ेज मामला सामने आया... जहां बेटी के प्रेम विवाह से नाराज़ पिता ने उसे छत से धक्का दे दिया... ये बेटी भी उत्तर प्रदेश पुलिस में दरोगा पद पर काम कर रहे पिता की थी... इसी तरह का दूसरा मामला कौशांबी में देखने को मिला जहां एक पिता ने अपनी ही बेटी का मंदिर में क़त्ल कर दिया है... इलाहबाद. में तो ऑनर किलिंग के हादसे थमने का नाम नहीं ले रहे हैं... जहां पड़ोसी से प्रेम संबंध के चलते एक भाई ने अपनी ही बहन की हत्या कर दी... और लड़की का शव पेड़ से लटका मिला...जानकारी के मुताबिक लड़की गर्भवती थी...ये बात जब भाई को पता चली तो उसने बड़ी ही बेरहमी से बहन को मार दिया... और ह्त्या को आत्महत्या बनाने के लिए लाश को पेड़ से लटका दिया...
इश्क़ हाज़िर मोहब्बत की सज़ा पाने के कोई पत्थर से ना मारे मेरे दिवाने को.... लेकिन यहां पत्थरों से ही मौत मिली है....और ये ख़बर आई है हैदराबाद से.... जीहां साउथ का भी वही हाल है... ऑनर किलिंग के मामले थमते नजर नहीं आ रहे हैं....ऐसे ही एक ताजा मामले में निजामाबाद में एक प्रेमी जोड़ी को लोगों ने यातना दे कर मौत के घाट उतार दिया... इश जोड़े की सिर्फ़ इतनी सी ग़लती थी कि अनुसूचित जाति से ताल्लुक रखने वाले लड़के ने एक ऊंची जाति की लड़की, से भाग कर शादी कर ली थी...
यहां तक की ऑनर किलिंग मामले से देश के चौथा स्तभ के लिए काम करने वाले मिडिया परस्नेलिटी भी अछूते नहीं है...निरूपमा पाठक हत्याकांड का ख़ुलासा होने के बाद मीडिया के तो होश ही उड़ गए...जी हां देश का एक ऐसा तबक़ जिसे हम मिरर ऑफ़ सोसाईटी के कहते है... उसके लोगदों के भी नहगी बख़्शा गया.... और तो और मामला ऐसा पेचीदा बना की हत्या और आत्महत्या के बीच अब तक पिस रहा है... फ़िलहाल निरूपमा की मौत भी जातीवाद की ही वजह से ही हुई है....दरअसल ब्राह्मण की बेटी कायस्थ का बेटा था.. और मौत की वजह उसका प्रेम संबंध बताई जा रही है... और शर्म की बात ये है की मौत के बाद भी निरूपमा की इज़्ज़त सरे बाज़ार आज तक उछाली जा रही है...
ऑनर किलिंग’ की कुप्रथा का चलन सिर्फ हरियाणा और पश्चिम उत्तरप्रदेश में ही नहीं, बल्कि दुनिया के दर्जन भर से अधिक देशों में है... संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या कोष की रिपोर्ट के मुताबिक हर साल ऑनर किलिंग के तहत 5,000 से अधिक लोगों को मौत के घाट उतार दिया जाता है....
संयुक्तराष्ट्र ने दुनिया के उन देशों को अपनी रिपोर्ट में शामिल किया है जहां यह कुप्रथा चल रही है... इसके मुताबिक ऑनर किलिंग की कुप्रथा भारत के अलावा पाकिस्तान, तुर्की, जॉर्डन, सीरिया, मिस्र, लेबनान, ईरान, यमन, मोरक्को के अलावा कई खाड़ी देशों में हैं... इसके अलावा जर्मनी, फ्रांस और ब्रिटेन में भी उन परिवारों के बीच ये कुप्रथा चल रही है जो बाहर से आकर यहां बसे हैं....

No comments:

Post a Comment